विजय हजारे से खेलों की तरफ लौटेगा हिमाचल

हिमाचल प्रतिभा का धनी राज्य है। हम पहाड़ी किसी भी क्षेत्र में कम नही है। भारत के विकास की हर कहानी में हिमाचल महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। खेलों की बात करें तो हमारे हिमाचल में प्रतिभाएं कम नही है परन्तु हम चाह कर भी खेलों में वो मुकाम हासिल नही कर पाए जो हमे करना चाहिए। जबकि कुदरत ने हमें सेहत का खजाना दिया है। आज क्रिकेट में पहली बार विजय हजारे ट्रॉफी जीत कर हिमाचल ने सबको चोंका दिया है। किसी ने कभी भी ये उम्मीद नही की थी कि हिमाचल भी विजय हजारे ट्रॉफी जीत सकता है। ये ट्रॉफी अपने आप मे एक बहुत बड़ा सम्मान है। देश के कई दिग्गज खिलाड़ी इस ट्रॉफी से ही निकले हैं। अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों की नर्सरी कही जाने वाली इस ट्रॉफी को जीत कर हिमाचल ने खेल की तरफ हिमाचली युवाओं का ध्यान आकर्षित किया है। सोशल मीडिया पर पोस्ट का एक सैलाबसा आ गया क्योंकि हर किसी के लिए ये एक सुनहरे सपने जैसा है।
हिमाचल के कई युवा हर साल खेल में अपना भविष्य बनाने के सोचते हैं परन्तु बस यही सुनने को मिलता है कि हिमाचल में खेलों का कोई भविष्य नही। परन्तु अब हिमाचली बच्चे सोच सकते हैं कि आने वाला समय हिमाचल में खेलों की नई उम्मीद लेकर आएगा।
हिमाचल में अब अन्य खेलों में भी आगे आना होगा। हिमाचल के लिए ये सौभाग्य की बात है कि भारत के खेल मंत्री हिमाचल के युवा श्री अनुराग ठाकुर जी है। जो पूरे देश मे खेलों को लेकर बहुत ही संवेदनशील है तो हिमाचल के लिए तो वो हमेशा मदद करेंगे।
अब देखते हैं कि ये विजय हजारे ट्रॉफी हिमाचल को कँहा तक लेकर जाती है। हिमाचल की टीम को बहुत बहुत बधाई।
उम्मीद है भविष्य बहुत ही उज्ज्वल होगा।

आशीष बहल
चुवाड़ी जिला चम्बा
8219331727