हिमाचल प्रदेश एक खूबसूरत राज्य

हिमाचल यानी हिम के आंचल (गोद) मे वसा एक सुंदर राज्य। हिमाचल अपनी नैसर्गिक सौंदर्य के लिए बहुत ही अधिक प्रसिद्ध है। यंहा के ऊँचे ऊँचे पहाड़, हरे भरे खेत खलिहान, झर झर बहते सुंदर झरने जैसे मानो प्रकृति ने अपना सारा श्रृंगार हिमाचल की इस देवभूमि को ही कर दिया हो। यँहा पर पर्यटक मोहित हुए बिना नही रह पाते। हिमाचल भारत के सब राज्यों से शान्त और सबसे सुंदर प्रदेश है।




io

जब पूरा देश भयंकर गर्मी की चपेट में होता है तो भी यँहा मंद मंद ठंड का एहसास होता है और जब सर्दियों में कड़ाके की ठंड पड़ती है तो यंहा सैलानियों की भरमार रहती है। हर कोई इस देवभूमि में वर्फ़ का मजा लेने के लिए चला आता है।





यँहा के भोले भाले लोग भोलेनाथ के भक्त हैं इसलिए हमेशा ही भोलेनाथ की भाँति शांत रहते हुए हर किसी का दिल मोह लेते हैं।
आज कल सर्दियों में यँहा वर्फ़ गिरने से चारो तरफ का नजारा मनमोहक हो चुका है कुछ तस्वीरों से जानते हैं हिमाचल के इन नजारों को।
आनंद लीजिए आशीष बहल द्वारा रचित इस सुंदर कविता का ओर देखिए ये सुंदर तस्वीरें




पहाड़ा साईं जीणा कुथु


ठंडी ठंडी हवा कुथु, रूखा च ग्लान्दे पखेरु कुथु, इसा दुनिया च पहाड़ा साईं जीणा कुथु

छर छर करदे चरने ते सां सां करदियां खड्डा कुथु, वरफा ने लदोयो पाड़ कुथु, हरा भरा ए नजारा कुथु,

इसा दुनिया च पहाड़ा साईं जीणा कुथु ।

छैल बांकिया छोरियां ते , हट्टे कट्टे मुंडू कुथु,

पैग लाई ने लपेटे मारदे माणु ते, चिलमा दा तुं कड़दे स्याणे

ते दिन भर गुलेला खेलदे न्याणे कुथु,

लगया बया ता नचदीया हसदियां जणासा कुथु, मरया कोई ता रडादिया पिटदिया स्याणीयां कुथु,

टाले ते बैठी ने ताश खेलदे चुट कुथु,

चाचे दिया घुसियां सुनादियां मेफिला कुथु, इसा दुनिया च पहाड़ा साईं जीणा कुथु।

मेले च घुमदिया मणिया कुथु, मंदरा च नचदे चेले कुथु,

भोले दे नोखे भक्त कुथु, राति राति भर लगदियां पकता कुथु,

कुमी लेया तुसा धरती सारी, फिरि लेया तुसा दुनिया प्यारी,

मिलना नि हिमाचल प्यारा मिलना नि कुथी ए नजारा,

मिलने प्यारे पहाड़ कुथु, इसा दुनिया च पहाड़ा साईं जीणा कुथु।

आशीष बहल चुवाड़ी जिला चम्बा

धरती का स्वर्ग है जोत/Ashish Behal

खूबसूरती का दूसरा नाम है “खज्जियार”

कला की नगरी चम्बा/सामान्य ज्ञान

सभी फ़ोटो फ़ेसबुक और व्हाट्सएप पर मित्रो द्वारा भेजे गए हैं।