आवाज़ तो आयी
Gst देर से आया दुरुस्त आया
चलो आवाज़ तो आई

देश एक भाषा अनेक
टेक्स आज से सिर्फ एक

क्या सस्ता क्या महँगा अब हम सोचे
देश हित के लिये हम सब सोचे

चोर बाजारी मानो कम होगी
देश की आर्थिक हालात अब ठीक होगी

आज प्रधान मंत्री मोहोदय
रात 12 बजे सावधान की घंटी बजाते है

और gst ला कर हमे नया तौफा देते है
क्या महँगा क्या सस्ता सब बता देते है

ऐसा ही एक अर्ज है प्रधान मंत्री महोदय से
देश के नेताओं का वेतन केसे कम होगे

सरकारी जॉब में 60 साल बाद पेंशन बँद
नेताओं को 5 सालों में पेंशन का प्रबंध

वो घंटी कब बजाओगे महोदय आप
जब नेताओं का पेंशन होगा कम

चलो आवाज़ तो आई gst ला कर
पिछली सरकार का सपना पूरा करवाई

वो घंटी कब बजाओगे आप महोदय
जब जाती बाद द्वारा इंसान खोजना बँद हो

एक बटन और दबा दो महोदय
जब जाती खोजना बँद हो

गरीबों के घर के बाहर
लगता है फटा मे गरीब हूँ

gst आया है अब महोदय
अब सुकून चैन का बटन हम दबायेगे

राम भगत
जय gst jai bhim