हिमाचल के इस सॉफ्टवेयर इंजीनियर के जनून ने बना दिया शिक्षा को आसान

कहते हैं अगर हौंसला आसमान को छूने का हो तो पर्वतों पर बसेरा नही होता। कुछ यही बात सही बैठती है पुनीत वर्मा पर। पालमपुर जिला कांगड़ा में एक आम परिवार से निकल कर एक शख्स आज वेबसाइट डेवलोपमेन्ट व सॉफ्टवेयर , मोबाइल एप्प बनाने में एक नामी चेहरा बन चुके हैं। साईब्रेन सॉफ्टवेयर सोलुशन नाम से एक छोटी सी कंपनी अपने 10 by 10 के किराए के कमरे में शुरू करने वाले पुनीत वर्मा ने मात्र 20000 रुपये से अपना बिजनेस शुरू किया। आज करोड़ो का टर्न ओवर देने वाली ये कम्पनी भारत ही नही बल्कि विदेशों की भी कई सरकारी एजेंसियों को अपनी सेवा दे रही है। आज हिमाचल के कई मंदिरों और सरकारी संस्थाओं को वेबसाइट का संचालन करते हैं अगर सभी को गिनाने लगे तो लिस्ट लंबी हो जाएगी। बाबा बालक नाथ ट्रस्ट, नयना देवी से लेकर आर्मी स्कूल जैसी सैंकड़ो संस्थाओं की वेबसाइट व एप्प बना चुके हैं।
पालमपुर के छोटे से गाँव बन्दला से निकल कर 2012 में अपनी कंपनी खोलने वाले पुनीत वर्मा आज कई युवाओं के लिए प्रेरणा हैं। संघर्ष की अनोखी दास्ताँ लिखने के बाद आज cybrain software solution कई लोगों को रोजगार प्रदान कर रही है। Cybrain Software Solution को Best socially active unit का खिताब सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क्स ऑफ इंडिया द्वारा हासिल है।आज इनके भारत मे चंडीगढ़, बेंगलुरु, पालमपुर आदि शहरों में आफिस हैं तो वही विदेशों में ऑस्ट्रेलिया, USA कैलिफोर्निया व ज़ाम्बिया में कार्यालय हैं। कोई सोच नही सकता कि किराए के कमरे से अकेले शुरुआत करने वाला आम लड़का आज बिजनेस के क्षेत्र में बड़ा नाम है।

आजकल क्यों चर्चा में हैं पुनीत वर्मा की कम्पनी

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कई सम्मान अपने नाम कर चुकी ये आई टी कम्पनी आजकल काफी सुर्खियों में है कारण है समाज सेवा और शिक्षा के क्षेत्र में इनकी निःस्वार्थ सेवा। जी हाँ, आजकल lockdown के कारण बहुत से माता पिता चिंतित हैं कि आखिर उनके बच्चों को शिक्षा कैसे मिले इसके लिए पुनीत वर्मा ने अपनी कमाई को दरकिनार करते हुए अपनी तकनीक और अपनी टीम को लगा दिया मुफ्त सेवा में। cybrain school manager app के द्वारा आज भारत भर के कई बच्चों को एक्सपर्ट टीचर से मुफ्त शिक्षा मिल रही है। यही नही लाखों रुपये से तैयार होने वाली ये एप्प इस मुश्किल समय मे सबके लिए आसानी से बिल्कुल मुफ्त उपलब्ध है। पुनीत वर्मा बताते हैं कि उन्होंने हिमाचल से निकल कर आज ये मुकाम हासिल किया है कोई राशन बांट रहा है कोई और उपकरण परन्तु मैंने सोचा कि मैं इस समय शिक्षा बाटूंगा। इसी लिए मैंने अपने सॉफ्टवेयर कम्पनी का प्रयोग समाजहित के लिए किया है। मेरे सारे एम्प्लोयी जो घर से काम कर रहे हैं वो बाकी सारा काम बंद करके इसी पर काम कर रहे हैं।
कम्पनी के एम डी पुनीत वर्मा के अनुसार इस समय 2 लाख छात्र हमारे साथ जुड़े हैं और 50 हजार के लगभग शिक्षकों को इसमें ट्रेनिंग दी जा रही है।

समाजसेवा :- समाजसेवा के क्षेत्र में पुनीत वर्मा सिर्फ भारत ही नही बल्कि विदेशों को संस्थाओं में भी दान देते हैं। इसके अलावा हिमाचल में कई गरीब परिवारों की मदद के लिए आगे रहते हैं। कई गरीब छात्रों की पढ़ाई में मदद कर रहे हैं।
पुनीत वर्मा जैसे युवा ही हमारे देश और प्रदेश का गौरव है इनके जज्बे को हम सलाम करते हैं और इतना ही कहते हैं कि
कौन कहता है कि आसमान में छेद नही होता,
एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो

आशीष बहल
चुवाड़ी जिला चम्बा

आप इनकी एप्प यँहा डाऊनलोड करें
cybrain school manager app its Cyber School Manager (www.cyberschoolmanager.com) hyperlink

http://www.cybersolutionindia.com

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.avrsh.cybrainschool

https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cybrain.teacherapp