Category: शायरी

शायरी/अजय

1) मुझे नींद की इजाज़त भी उनकी यादों से लेनी पड़ती है, जो खुद आराम से सोये हैं मुझे करबटों में छोड़...

Read More
Loading