भस्मांगरागानुरागी पुरारी/डॉ मीना कौशल

भस्मांगरागानुरागी पुरारी, अर्धांग गौरा हिमालय दुलारी। वृषभ सिंह मूषक सदा संग गणपति- शुभाशीष दर्शन सुकल्याणकारी। वामांग जगदम्ब स्कन्दमाता। एकदन्त अंके

Continue reading »