ॐ नम: शिवाय बोलो ॐ नम: शिवाय,
जय भोला भंडारी बाबा बेड़ा पार लगाय।

नौ म्हीने पेटे बिच्च माह्णू नक नक लीक्हां कढियां,
आई दुनियांदारी पकड़ी प्रभ प्रीतां छडियां।
दस हुण डुबदी बेड़ी मेरी बन्ने कौण लगाय।।
ॐ………..

लख-चुरासी गेड़े सुणया जीणा कठण परिख्या,
पले पले नी पौणा इस बिच्च बिच्च कताबां लिख्या।
पीर फकीरां मता गलाया फिर वि समझ ना आय.
ॐ………….

मत कर वंदया मेरी मेरी माया ढेर मढेरी,
बड्डे ठग ठगोए एत्थु ना तेरी ना मेरी।
नां प्रभु दा ऎ इक प्यारे तेरे कम्म जे आय.
ॐ नम: शिवाय जप ले ॐ नम: शिवाय,
ॐ नम: शिवाय भज ले ॐ नम: शिवाय।
जय भोला भंडारी बावा बेड़ा पार लगाय।।
ॐ……

नवीन शर्मा ‘नवीन’
गुलेर-कांगड़ा
(हि०प्र०)
१७६०३३
?9780958743