चुप रहना ……

चुप रहना किसी से कुछ ना कहना
आप भी सुखी दूसरे भी सुखी

ना आप तकलीफ में
ना दूसरे कोई तकलीफ में

मन भी सुखी तन भी सुखी
चुप रहने से कोई नही होगा दुखी

गुस्सा आये कोई सताये
या फिर कोई रूलाये

चुप रहना किसी से कुछ ना कहना
आप भी सुखी दूसरे भी सुखी

मन में गाँठ बाँध लो
राम भगत की बात मान लो

चुप रहो खुश रहो
मुश्किलें कितने क्यू ना हो

राम भगत किन्नौर
9816832143

किस्मत के आगे …..
क़िस्मत से आगे किस की चली है
मिले है यहां नाकामी या कामयाबियाँ

पलभर की जिंदगी गुज़ार लेते है यहां
एक लम्हा भी जैसे सालों साल लगे

ना परवाह जिंदगी में अंजाम क्या होगा
खुदा को ढ़ूंढ़ बंदा आज जैसे परवाना हो गया

ना ख़ुदा मिला ना जिंदगी
इन्सान आज जैसे खमोश हो गया

जब भी लगी प्यास नदियां बहुत मिले
दरियाँ तो आज भी उसी रफ्तार से चली है

नींद आ जाती जब भी मौत की तरह सोया हुँ
किस्मत की लकीरों को खुद ले कर आया हूँ

राम भगत किन्नौर