समाजसेवा का अदभुत जनून है सुभाष साहिल में/जगजीत आज़ाद

समाजसेवा का जनून है सुभाष साहिल में

जगजीत आज़ाद की खास रिपोर्ट

​एक शाम— एक नाम  इस कड़ी  में आज की शख्सियत जिस से हम रूबरू  होंगे उनका नाम है…

सुभाष साहिल 

वर्तमान में  जिउँता उदयपुर  वार्ड  जिला चम्बा हिमाचल प्रदेश से जिला परिषद् सदस्य हैं …जन्म 24-02-1980 को एक छोटे  से गांव  sanghrain जिला चम्बा में  हुआ …

पिता श्री  मुंशी राम 

माता श्रीमती  निर्मला  देवी  

शिक्षा BA B Ed 

Engineering dipoma in tele communication from Polytechnic Kangra…

वर्तमान में शिक्षा की अलख  जला  रहे हैं 

Nainikhad और बालेरा में दो शिक्षण संस्थान चला  रहे हैं जिस में गरीब  बच्चों  को बिलकुल मुफत  शिक्षा दी जा रही है …

2006 में समाज सेवा  के लिए सरकारी  नियमित  सेवा का त्याग  कर चुके हैं जो अपने आप में एक मिसाल है …

समाज सेवा की एक और मिसाल के तहत  20 अक्टूबर  2017 को देहदान  का निर्णय  कर चुके हैं …

गरीबों  ,लाचारों के मसीहा  के रूप  में कई बार अपने खर्च  पर PGI और अन्य अस्पतालों  में इलाज  करवा  चुके हैं …

Bone marrow पीड़ित  पलक  व साहिल के लिए मुहीम  चला कर लाखों  रुपए की मदद 2016 व 2017 में कर चुके हैं …

आजकल परवीन  गावं  गड़ाना   खोरटी जिला चम्बा जिसकी  पत्नी  व बच्चे की हाल  ही में मृत्यु  हो गई व एक्सीडेंट  में अपनी टांग  खराव  हो चुकी उसके इलाज के लिए अभियान  चलाए  हुए हैं ….

पिछले 11 साल से अपनी जेब से सात जरूरतमंदों  को 200 रूपए  प्रतिमाह  पेंशन दे रहे हैं ….

जिला परिषद् का पिछले दो साल से मिला 73000 रूपये का मानदेय  गरीबों  में बाँट  चुके हैं …

अभ्यारण्य  क्षेत्र  लकड़मंडी  जिला चम्बा के 90 बेसहारा  परिवारों  को एक लम्बी लड़ाई लड़ कर उनके मालिकाना  हक़ दिलाए  जो की शायद हिन्दोस्तान  का पहला मामला  है …

राष्ट्रीय  स्तर  के लेखक हैं ….

आवाज़ संस्था सहित  लगभग 10 समाजसेवी  संस्थाओं  में प्रमुख  भूमिका  निभा रहे हैं … नई प्रतिभाओं  को विभिन क्षेत्रों  में आगे लेन  के लिए दिन रात samarpit…

जिला परिषद् जिला चम्बा की शिक्षा व स्वस्थ्य समिति  के वर्तमान में अध्यक्ष  हैं …..

कई लोगों के आँखों के  निःशुलक

ऑपरेशन करवा चुके हैं …

जिला परिषद् चुनावों  में सबसे बड़ी जीत का रिकॉर्ड  भी शायद उनके नाम है …

समाज सेवा की जिन्दा  मिसाल  के रूप में एक ऐसी शख्सियत जो  एक शाम एक गावं कार्यक्रम  के तहत लोगों से मिल कर उनकी समस्याओं  को हल करवाने  के लिए प्रशासन  के हर स्तर पर लड़ाई लड़ने  वाले ऐसे जज़्बे  को आवाज़ समूह का नमन ….

लेखक परिचय

जगजीत आज़ाद

प्रधानाचार्य पद पर कार्यरत हैं राष्ट्रीय स्तर के लेखक और कवि हैं।

ये भी पढ़िये

हीरों को तलाशते और तराशते वीरेंद्र शर्मा “वीर”/जगजीत आज़ाद

डॉ जनकराज समाज सेवा की अदभुत मिसाल/जगजीत आज़ाद


आज भारत का खजाना के व्यक्ति विशेष कॉलम में पढ़िये जाने माने न्यूरोसर्जन डॉ जनकराज जी का जीवन परिचय।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *