हीरों को तलाशते और तराशते वीरेंद्र शर्मा “वीर”/जगजीत आज़ाद

​वीरेन्द्र शर्मा वीर समाजहित में बढ़ते कदम

जगजीत आज़ाद की खास रिपोर्ट

एक शाम एक नाम कड़ी में आज हम रूबरू होंगे एक ऐसी शख्सियत से जिनकी एक एक साँस समाज के दबे कुचले लोगों को समर्पित है …समाज के दबे कुचले लोगों की आवाज़ …

वीरेंदर शर्मा वीर

जनम तिथि :::09-02-1974
पिता जी …श्री सुरेश चंद 

माता जी …श्रीमती कृष्णा देवी 

गांव …पद्धयाडा …जवालामुखी …जिला काँगड़ा हिमाचल प्रदेश 
वर्तमान सम्प्रति …..बिजनेस डेवलपमेंट मैनेजर …
वर्तमान में अपने निवास खरड़ चंडीगढ़ में रहते हैं …

समाजसेवा में योगदान ….

1.अभी तक  51 बार रक्तदान कर के कई लोगों की जान बचा चुके हैं …पी जी आई चंडीगढ़ में नियमित रूप से जरूतमंदों से मिल कर रक्तदान करते रहते हैं …

2.अपने शरीर के अंग दान करने की औपचारिकताएं कर चुके हैं …पी जी आई में उनके शरीर के अंग जरूरतमंदों के काम आएंगे …बॉडी ऑर्गन प्लेज पी जी आई 1998…        

3.उपेक्षित.प्रतिभाओं लिए हमेशा लड़ाई लड़ते रहते हैं …लाखों रूपए की मदद अभी तक कर चुके हैं …
4.भारतीय कबड्डी टीम के कप्तान अजय ठाकुर जी को हक़ दिलवाने के लिए एक लम्बी लड़ाई लड़ी …उनको डी एस पी का पद दिलवाने के लिए सरकार से एक लम्बी सफल लड़ाई लड़ी 

5.हरजीत कुमार एक उपेक्षित व गरीब खिलाडी की मदद के लिए २२ दिन बिना सोए सोशल मीडिया और सरकार के स्तर पर एक लम्बी लड़ाई लड़ी व ढाई लाख रूपए का इंतजाम करके उसको भारत का प्रतिनिधित्व करने अमेरिका भेजा …

6.पहाड़ी गाँधी बाबा कांशीराम जी के आवास को राष्ट्रीय धरोहर घोषित करवाने के लिए एक लम्बी लड़ाई लड़ी …

7.शालू एक राष्ट्रीय स्तर की उपेक्षित खिलाडी के लिए आजकल लड़ाई लड़ रहे हैं …

8.मरणोपरांत व जीवित निर्धन लेखकों की रचनाओं पर काम करके उनकी पुस्तक प्रकाशित करने के लगातार प्रयासरत …इस कड़ी में दो पुस्तकें आ भी चुकी है …व कुछ पर काम जारी है …

9.अभिनय के क्षेत्र में भी महारत …

एक व्यावसायिक फिल्म (forever for you )में काम कर चुके हैं …

जालंधर दूरदर्शन …चाचा रोनकी रामIके साथ दो नाटकों में काम कर चुके हैं …

आकाशवाणी हमीरपुर में आंशिक उद्घोषक के रूप में १९९४ -९६  में काम कर चुके हैं ..       

समाज सेवा के लिए मुख्यमंत्री के हाथों आल राउंड बेस्ट स्टेट अवार्ड ले चुके हैं …

10.इनकी एक चर्चित पुस्तक …पहाड़ बोलते हैं …आ चुकी है …


1१. मंच संचालक के रूप में राष्ट्रीय स्तर पर एक अलग पहचान …

1२. मंथन संस्था चंडीगढ़ के वर्तमान महासचिव ..

राष्ट्रीय अध्यक्ष …अखिल भरतीय सृजन सरिता परिषद्  …

राष्ट्रीय मार्गदर्शक …सृजन सरिता पत्रिका 
13.प्रदेश प्रभारी …नारायणी साहित्य अकादमी हिमाचल प्रदेश …

मार्गदर्शक …महिला साहित्यकार सभा हिमाचल …

सांकृत्यायन जी की तरह घुम्मकड़

हर महीने लगभग दस हजार किलोमीटर की यात्रा …

बेहद सौम्य …स्वभाब के मालिक वीर जी हमेशा हमें मार्गदर्शन करते रहें …

समाज के दबे कुचले लोगों की आवाज़ यूँ ही बनते रहें .आज वीर जी का परिचय देते हुए आवाज़ समूह व आवाज़ संस्था अपने आपको गौरवान्वित महसूस करती है …

भगवान् आपको लम्बी आयु दें …व समाज सेवा का ज़ज़्वा यूँ ही बना रहे …

ऐसी शख्सियत किसी परिचय की मोहताज नहीं होती …लेकिन एक दुसरे से वाकिफ होने व अभिप्रेरित होने के लिए य आवश्यक है …बहुत से गुणों की चर्चा न कर पाने के लिए वीर जी से  क्षमा …आपको यूँ ही सफलता मिले …

लेखक परिचय
जगजीत आज़ाद
जिला चम्बा से जाने माने कवि और साहित्यकार
प्रधानाचार्य पद पर कार्यरत हैं।

ये भी पढ़िये

डॉ जनकराज समाज सेवा की अदभुत मिसाल/जगजीत आज़ाद


आज भारत का खजाना में व्यक्ति विशेष में पढ़िये जाने माने न्यूरोसर्जन डॉ जनकराज जी का जीवन परिचय।

3 comments

  1. जय हो। सराहनीय जी। वीर जी को इनके मिशन में प्रभु सफलता प्रदान करते रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *