लोहड़ी आई/नंद किशोर परिमल

लोहड़ी सब कहते हैं लोहड़ी आई, लोहड़ी आई नीं माए लोहड़ी आई। आज मिलेगी मूंगफली रेबड़ी, और मिलेगी रस मिलाई। लोहड़ी आई नीं माए लोहड़ी आई। मकर संक्रांति के शुभ अवसर पर, सूरज नें ली उत्तरायण में अंगड़ाई। इस अवसर पर उसने चाल जो बदली, समय के संग अपनी गति बढ़ाई। लोहड़ी आई नीं माए … Continue reading लोहड़ी आई/नंद किशोर परिमल