कुक्कड़ बोलै कुकड़ू कड़ूं/नंद किशोर परिमल

कुक्कड़ बोलै कुकड़ू कड़ूं )
कुक्कड़ बोलै कुकड़ू कड़ूं,सुत्तेया माणुआं हण उठिआ तूं ।
हण सौणे रा बेला नीं ऐं, कम्मैं जाई न्नैं जुटिआ तूं ।
पंछियां जागी रौल़ा पाएया ,तूं कैं सुत्तेया अम्मां जाएया ।
उठ उठीनैं अग्गैं बध्दणा, देसे जो वी बध्दाणा अग्गैं।
मैहनत करीनैं उप्पर उठणा ,होरनां जो वी अग्गैं लेईयाणा तूं ।
कुक्कड़ बोलै कुकड़ू कड़ूं, परिमल बोलै सुत्तेया माणुआं हण उठिआ तूं ।
सौणे रा हण बेला नीं ऐं, कम्मैं जाई न्नैं जुटिआ तूं ।
कुक्कड़ बोलै कुकड़ू कड़ूं

नंद किशोर परिमल गांव व डा, गुलेर
तह, देहरा, जिला, कांगड़ा ( हि_प्र )
पिन, 176033, संपर्क, 9418187358

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *