हम तिरंगा लहरायेंगे/कवि राजेश पुरोहित

हम तिरंगा लहरायेंगे


गीत खुशी के गाएंगे
हम तिरंगा लहरायेंगे
भारत माँ की रक्षा में
हम सर्वस्व लुटाएंगे
दुश्मन के नापाक इरादे
कामयाब न होने देंगे
अखण्ड भारत को
हम आंच न आने देंगे
भूख गरीबी बेकारी
जड़ से मिल मिटायेंगे
आज़ाद हिन्दुस्थान में
शिक्षा का दीप जलाएंगे
स्वच्छ रहे देश हमारा
गाँव गाँव चमकाएंगे
स्वस्थ सुखी रहे सभी
रामराज फिर लाएंगे
कलाम के सपनों का
फिर से देश बनाएंगे
विजन दो हज़ार बीस
संकल्प फिर दोहराएंगे
विश्व गुरु भारत अपना
इसका मान बढ़ाएंगे
हर क्षेत्र में आगे आकर
इसे अव्वल बनाएंगे
– कवि राजेश पुरोहित
भवानीमंडी

म्हारो प्यारो राजस्थान
*****************
लागे हिवड़ा सूं भी प्यारो
ओ रेतां के धोरा वालो
ओ उंटा के डेरा वालो
रंग रंगीलो राजस्थान
घणो रसिलो राजस्थान
गोडावण का जोड़ा वालो
चिंकारा का जोड़ा वालो
जान सूं प्यारो राजस्थान
लागे रूपालों राजस्थान
ऊंचा ऊंचा परबत वालो
डूंगर लागे प्यारो प्यारो
यो रजपूता रो राजस्थान
यो घूमर वालो राजस्थान
खेजड़ली की छाया वालो
चम्बल नद के बीहड़ वालो
ओ म्हारो न्यारो राजस्थान
ओ रंग रंगीलो राजस्थान
राणा प्रताप की जय वालो
चेतक की यो गाथा वालो
चंदन के बलिदान वालो
पन्ना की स्वामिभक्ति वालो
म्हारो प्यारो राजस्थान
ओ रंग रंगीलो राजस्थान
तीज और त्योहार वालो
रुनीजा का नाथ वालो
चोखो लागे राजस्थान
ओ रंग रंगीलो राजस्थान
झीलां और पोखर वालो
नदी खाल तालाब वालो
म्हारो प्यारो राजस्थान
ओ रंग रंगीलो राजस्थान
बंडी धोती साफा वालो
भेड़ ऊँट और बकरी वालो
रंग रंगीलो राजस्थान
म्हारो प्यारो राजस्थान
पोकरण विस्फोट वालो
भारत माँ की रक्षा वालो
म्हारो प्यारो राजस्थान
रंग रंगीलो राजस्थान
मान और मनुहार वालो
पलक पाँवडा बिछबा वालो
म्हारो प्यारो राजस्थान
जान सूं प्यारो राजस्थान
– कवि राजेश पुरोहित

One comment

  1. बहुत अच्छे… शानदार.. जान सूं प्यारो राजस्थान…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *