भारत के प्रमुख युद्ध History of india

*भारत के प्रमुख युद्ध:-*
*1. हाईडेस्पीज का युद्ध (Battle of the Hydaspes) समय : 326 ई.पू.*
किसके बीच – सिकंदर और पंजाब के राजा पोरस के बीच हुआ, जिसमे सिकंदर की विजय हुई।
*2. कलिंग की लड़ाई (Kalinga War) समय : 261 ई.पू.*
किसके बीच – सम्राट अशोक ने कलिंग पर आक्रमण किया। युद्ध के रक्तपात को देखकर उसने युद्ध न करने की कसम खाई।
*3. सिंध की लड़ाई (समय : 712 ई.)*
किसके बीच – मोहम्मद कासिम ने अरबों की सत्ता स्थापित की।
*4. तराईन का प्रथम युद्ध (Battles of Tarain) समय : 1191 ई.*
किसके बीच – मोहम्मद गौरी और पृथ्वी राज चौहान के बीच हुआ, जिसमे चौहान की विजय हुई।
*5. तराईन का द्वितीय युद्ध (2nd Battles of Tarain) समय : 1192 ई.*
किसके बीच – मोहम्मद गौरी और पृथ्वी राज चौहान के बीच हुआ, जिसमे मोहम्मद गौरी की विजय हुई।
*6. चंदावर का युद्ध (Battle of Chandawar) समय : 1194 ई.*
किसके बीच – इसमें मुहम्मद गौरी ने कन्नौज के राजा जयचंद को हराया।
*7. पानीपत का प्रथम युद्ध (First Battle of Panipat ) समय : 1526 ई.*
किसके बीच – मुग़ल शासक बाबर और इब्राहीम लोधी के बीच।
*8. खानवा का युद्ध (Battle of Khanwa) समय : 1527 ई.*
किसके बीच – बाबर ने राणा सांगा को पराजित किया।
*9. घाघरा का युद्ध (Battle of Ghagra) समय : 1529 ई.*
किसके बीच – बाबर ने महमूद लोदी के नेतृत्व में अफगानों को हराया।
*10. चौसा का युद्ध (Battle of Chausal) समय : 1539 ई.*
किसके बीच – शेरशाह सूरी ने हुमायु को हराया
*11. कन्नौज /बिलग्राम का युद्ध (Battle of Kanauj or Billgram) समय : 1540 ई.*
किसके बीच – एकबार फिर से शेरशाह सूरी ने हुमायूँ को हराया व भारत छोड़ने पर मजबूर किया।
*12. पानीपत का द्वितीय युद्ध (Second Battle of Panipat) समय : 1556 ई.*
किसके बीच – अकबर और हेमू के बीच।
*13. तालीकोटा का युद्ध (Battle of Tallikota) समय : 1565 ई.*
किसके बीच – इस युद्ध से विजयनगर साम्राज्य का अंत हो गय।
*14. हल्दी घाटी का युद्ध (Battle of Haldighati) समय : 1576 ई.*
किसके बीच – अकबर और राणा प्रताप के बीच, इसमें राणा प्रताप की हार हुई।
*15. प्लासी का युद्ध (Battle of Plassey) समय : 1757 ई.*
किसके बीच – अंग्रेजो और सिराजुद्दौला के बीच, जिसमे अंग्रेजो की विजय हुई और भारत में अंग्रेजी शासन की नीव पड़ी।

जानिए खूबसूरत कांगड़ा के बारे में ये जानकारी

लाहौल स्पीति  स्वर्ग से भी सुंदर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *