क्या खोया क्या पाया

क्या खोया क्या पाया
जब से हमने मत का दान किया

लोगों से विश्वास का
देश और गाँव के विकास का

कुछ पाया कुछ कुछ खोया
नेताओं ने देश का कम अपना माल बहुत बढ़ाया

काला धन पता नहीं कहाँ काला हुवा
नेताओं और अफसरों की तिजोरी माला माल हुवा

क्या खोया क्या पाया
जब से हमने मत दान किया

सरफरोशी की तमन्ना लिये
देश के वीर सेनिक शहीद हुवे

पर आतंकवाद जस का तस रहा
भ्रष्टाचार दिनों दिन और बड़ रहा

हरित क्राँति का सपना
सिर्फ सपना रह गया

किसानों ने आत्मह्त्या
हर पल बहुत किया

क्या खोया क्या पाया
जब से हमने मत का दान किया

चाँद पर हम कई बार गये
पर चाँद जैसे धरती को नंगा कर दिया

कई गोटाले हुवे
जब से हमने मत दान किया

जातिवाद दहेज बलात्कार
दिन प्रतिदिन बहुत बड़ा

नेता सेवक नहीं राज़ नेता बन गये
जो बचे वो उनके चमचे बन गये

अभी भी वक्त है इन्सान
नेक इन्सान कौन उसे पहचाना

भेज 9 तरीक को कोई देश भगत इंसान को
अपना मत का दान कर

बना इतिहास फ़िर से तु भी
और विकास का भागीदार बन

राम भगत किन्नौर
9816832143