देश के नेता बड़े महान हैं/नंद किशोर परिमल

देश के नेता बड़े महान हैं लूटते पूरा जहान हैं)
देश के नेता बड़े महान हैं, कहलाते सच्चे इन्सान हैं।
धर्मशाला के निकटवर्ती दर्शनीय जितने स्थान हैं।
पूर्ववर्ती मंत्रियों या आज के नेताओं के चर्चे वहां महान हैं।
जगह जगह उन्हीं के होटल, प्लाट और आलीशान मकान हैं।
कहलाते हैं देश के संरक्षक सभी, सच्चे सुच्चे ये सब इन्सान हैं।
दोनों हाथों लूटते देश और प्रदेश को, लूट का ये साक्षात प्रमाण हैं।
कौन माई का लाल है, शहर में जिस के नहीं बड़े बड़े मॉल हैं।
कलेजे पर हाथ रख कर कसम खाएं, कहां नहीं इनके गगनचुंबी भव्य मकान हैं?
बडे़ बड़े परौजेक्ट बाद में बनते, पहले खरीद होते नेताओं के प्लॉट हैं।
जनता को भनक तक नहीं लगती, जो अकूत दौलत इनके पास है।
बेनामी संपत्ति इनके नाम है, देश के जो बने आज के कर्णधार हैं।
है कौन ऐसा एक नेता, जिसके नाम नहीं अनेक प्लाॅट, होटल और मकान हैं।
हां एक नेता आज ऐसा, कसम जिसने खा रखी।
न खाऊंगा, न खाने दूंगा, बेईमानों को बेनकाब करने को जो बेताब है।
पार्टी से ऊपर उठकर, आधार सबसे जोड़ कर, अकूत संपत्ति का हिसाब लेगा?
देश वासियों के सामने, उन सब का कच्चा चिट्ठा क्या खोल देगा?
कितने ये नेता ईमानदार हैं, देश के जो कर्णधार हैं।
कहलाएं सच्चे देश सेवक और लूटते पूरा जहान हैं।
कर्मचारियों की पैंन्शन बंद कर के, बिना काम किए वेतन लेते ये लाख हैं।
सदन न चलने दें ये दिन भर, जेबें और पेट ये पूरा भरते।
चार दिन को चुन कर आएं, पैंन्शन हैं आजीवन ये खाते।
अपने को फिर भी ये देश भक्त हैं कहलाते और पूरी लूट जमाते।
परिमल अब हैरान है, मेरे देश के नेता कितने महान हैं, लूटते पूरा जहान हैं।।
नंदकिशोर परिमल, गांव व डा. गुलेर
तह. देहरा, जिला, कांगड़ा (हि_प्र)
पिन, 176033, संपर्क. 9418187358

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *