भारत माता की जय बोलो
सब मिलकर भारत माता की जय बोलो।
सकुचित मन के अपने कपाट को खोलो। भारत माता की सब संतान हैं बराबर एक समान।
रहने वाले सब भारत वासी, हिंदू न कोई न कोई मुस्लमान।
भारत माता सब का सुख संसार बसाती।
सबको भाई भाई सम रहना सिखलाती।
सब जन को भारत माता है एक समान।
सब मिलकर गाओ भारत मां के गान।
गुड़ शक्कर सम सब जन रहते, कितना बड़ा है हिंदुस्तान।
छोटा बड़ा नहीं यहां कोई, सब गाएं भारत मां के गुणगान।
देख देख हैरान बड़ा है, सारा जग यह सारा जहान।
विविधता में एकता देख देख कर मानव होता बड़ा हैरान।
किसी की बुरी नजर लगे न, भारत माता का जग में ध्वज फहराए।
विश्व बंधुत्व का सब गाना गाएं, भारत मां हमेशा सब पर प्रेम बरसाए।
कभी कोई हिंसा के पथ पर न जाए, सबको मां प्रेम का पाठ पढ़ाए।
सब जन सुपथ पर आएं, परिमल भारत माता के गुणगान ही गाएं।।
नंदकिशोर परिमल, गांव व डा. गुलेर
तह. देहरा, जिला. कांगड़ा (हि_प्र)
पिन. 176033, संपर्क. 9418187358