सिलसिले टूट गए
अपने रूठ गए
न मिले हम सफ़र
साथ अपनों के ही छूट गए
सिलसिले टूट……….|

वो लगे गाने वक्त का लिखा
दिल से ही टूट गए
अब जो भी हो राह
हम भी जीना सीख गए
सिलसिले टूट ………..|

न रहते थे कभी
उनके बिना पलभर
अब साहिल पर ही
पत्थर फैकना सीख गए
सिलसिले टूट ………..|

वो गली वो कूचे
जहा याद तेरी हो
उस याद के सहारे
जीना सीख गए |
सिलसिले टूट ………..|

हुई आँखे भी नम
जब याद तेरी आई
उन्ही आंसुओ के साथ
मुस्कराना भी सीख गए
सिलसिले टूट ………..|

हमराह करे कैसे शुक्रिया
गैरो में अपने अपनों में गैर
को ढूढ़ना सीख लियाI
सिलसिले टूट ………..|

अनिल कुमार
गांव नाल डा0 तिस्सा
तहसिल चुराह जिला चम्बा (हि0प्र0)
मोबाइल नंबर 9816739612