||||||||||| माँ बाप
————

माँ बाप पूजीइए,
घर पर तीर्थ मनाइए..!!

इनके चरणों में संसार है ,
दूर मत जाइए..!!

खुद छोटा कर बड़ा किया हमें,
भूल मत जाइए..!!

ख़ुद भूखे रहे हमें खिलाया
इन्हें मत सताइए..!!

रात भर जागे ,हमें सूलाया
इन्हें मत भुलाइए ..!!

सब सुख त्याग हमें ख़ुश रखा
इन्हें छोड़ मत जाइए..!!

बहुत सपने सँजोए थे
सपने इनके तोड़ मत जाइए..!!

चलना सिखाया जिन्होंने,
बेसहारा उन्हें छोड़ मत जाइए..!!

आज ज़रूरत है संभाल लो,
यूँ गला घोंट मत जाइए…!!

छोड़ उनको आश्रम में,
विदेश मत जाइए..!!

सबसे बड़ीं दौलत ठुकरा,
जीवन नर्क मत बनाइए …!!

निकल दौलत के घमंड से,
समझ जाइए…!!

||||||〽~~उत्तम सूर्यवंशी
किहार चंबा हिमाचल
मो. न. 8629082280