ये क्या मुस्कुराहट है चेहरे पे तेरेll
———————————————–
ये क्या मुस्कुराहट है चेहरे पे तेरे l
ये कैसी सदाकत है चेहरे पे तेरे ll
ये कैसी फ़कीरी की तहरीर है तू l
ये क्या रोशनी सी है चेहरे पे तेरे ll

तू जितनी नयी है, तू उतनी पुरानी l
जो हर दिल को भाए तू ऐसी कहानी ll
मैं पढ़ता रहूँ तुझको आयत समझकर l
तू अपनी तरह कर मुझे जावेदानी ll

मिट्टी के मटकों से हैं जिस्म सारे l
सदा ना रहें ये हमारे तुम्हारे ll
उजले बदन भी हैं मिट्टी में मिलते l
फ़लक से यूँ गिरते चमकते सितारे ll

ये दरवेशी सूरत ये चेहरा नूरानी l
तेरी झुर्रिंयों में जवानी रूहानी ll
तेरी नज़रों में शाम सुन्दर की लौ है l
तू राधा है या है तू मीरा दिवानी ll

ये जिस्मों के बंधन ये दुनियां की माया l
चैन-ओ-सुकुँ सब ने अपना गवाया ll
तू लगती खुशी गम से मुझको बेगानी l
तू नूर -ए -इलाही की सूरत सुहानी ll

डा. सुभाष सोनू l
02-09-2017