जियो ऐसे दर्द भी सुकून बने .

कौन कहता है
अपने दर्द देते हैं
दर्द तो जिंदगी भी देती है

जिंदगी है तो दर्द ही दर्द है
किसी को माया का दर्द
किसी को काया का दर्द
किसी को अपनों का दर्द
किसी को सपनों का दर्द

जो दर्द को समझ पाया
वो सुकून में है
जो दर्द झेल पाया
वो सुकून में है
वो कामयाब है

जिओ ऐसे दर्द भी हमारे
संयम की पराकाष्ठा देख कर जले
दर्द भी स्वयं दर्द महसूस कर
कोसों दुर भागे

राम भगत