…माफ करना ..

जब हम दूसरों को दुख देते है
जब हम दूसरों की बुराई करते है

तो हम भूल जाते है दर्द उनको भी होता है
हम भूल जाते है कष्ट उनको भी होता है

इंसान के विचार अलग हो सकते है
उसके भाव अलग हो सकते है

पर किसी को कष्ट देना
किसी को दुख देना कोई इंसान नही चाहता

जाने अनजाने मे हम सब गलतीयां करते है
हम करते है आप करते है पूरा समाज करता है

जो गलतियों को माफ करे
वो किसी देव से कम नही

वो इंसान नही वो भगवान है
और एक भगवान ही तो है

जो हमारी सब गलतीयां
आज तक माफ करता आ रहा है
जय श्री राम

राम भगत