विघ्न हारी विनाशकारी तेरी जय हो

विघ्न हारी विनाशकारी तेरी जय हो
एक दंत महा संत तेरी जय हो

तेरी कृपा से संसार चले देश चले घर चले
इंसान कि सारी खुशियाँ तेरी आशीर्वाद से चले

भोग लगवाऊं कीर्तन करवाऊं
तेरी गाथा सब को सुनाऊं

धूप दीप से तेरी आरती करवाऊं
सब कि झोली खुशियों से भरें तुझे रोज़ मनाऊँ

विघ्न हारी विनाशकारी तेरी जय हो
एक दंत महासंत तेरी जय हो

जय श्री गणेश
राम भगत