..प्यार मोहताज नहीं होता ..

प्यार किसी पर मोहताज नहीं होता
प्यार किसी को दर्द नहीं देता

प्यार सुख दुख के बीच पनपता है
प्यार घटता नहीं बड़ता है

प्यार मीरा है राधा है
प्यार हीर और रांझा है

प्यार बरसता है गरजता नहीं
प्यार बोलता है सुनता भी है

प्यार फागुन है प्यार वसंत है
प्यार जीवन है और अनन्त है

प्यार मुस्कान है दर्द नहीं
प्यार नर्म है कठोर नहीं

प्यार दूरीयाँ नहीं नजदीकियाँ
प्यार मिठास कि नदियाँ है

जियो और जीने दो
प्यार कि महफिल को बने रहने दो

ना तीर से ना कमान से
ना धन से ना सामान से

जीतो सब का दिल प्यार से
रहो सबके दिलों मे बस प्यार से

राम भगत का प्यार अपनों से सपनों से
सब को नमन प्यार से दोस्त भाई बहनों को

राम भगत