जन्माष्टमी पर खास …. कान्हा के लिये हिमाचली भजन

जमुना दे तीरे रौणकां जे लग्गियां बसुंरी दी मिठ्ठी मिठ्ठी तान,
बजाये मेरा सांवरा जेह्या

सुध बुध खोई गोप्पियां भी नच्चीयां राधा जी दे थिरके पैर
नच्चाये मेरा सांवरा जेह्या…..

कुत्थु ते तू आया मने भरमाया बिच्च हाखी कज्जल़े दी धार
लुभाये मेरा सांवरा जेह्या…..

सोहण महीने दिया काल़ीया राती बिच होया अवतार
सुणाये मेरा सांवरा जेह्या……

हंस्सी नें गलांदा गल्लां भी सुणांदा खिड़खिड़ औंदी बहार खिड़ाये मेरा सांवरा जेह्या

घरें घरें जांदा मखणे चुरांदा पल भी नि आया मेरे द्वार
सताये मेरा सांवरा जेह्या…..

टैम सौखा ओंगा दुखड़े मैं खोंगा थम्मी लैह्गां ग़मे दी फुहार
गलाये मेरा सांवरा जेह्या…….

मोनिका शर्मा सारथी

जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं💐💐💐🌹🌹🌹