बहन बेटियाँ कब आजाद हो ..

आजादी हुवे अब सालों हो गये
बहन बेटियाँ क्या सच में आजाद हो गये

आज भी बहन बेटियाँ गुन्घट में रहती है
दहेज में जलती है सुसुराल में दम तोड़ती है

खेल खिलौना साज सज्जा
घर की है बहन बेटियाँ लज्जा

तो आज बेटियाँ नहीं बेटे चाहिये
घर की ताज बेटे है तो बेटियाँ देश की शान

तो क्यू बहन बेटियाँ का सम्मान नहीं
क्यू आज कोख में ही बेटियाँ दम तोड़ रही है

आरक्षण दिया देश में नारी का सम्मान हो
राखी भईया दूज में सारी सुविधायें भी दी

फ़िर भी क्या बहन बेटियाँ को सम्मान मिला
बहन नीर्भया और गुड़िया को सम्मान से जीने नहीं मिला

क्या आज भी भईया दूज और राखी जेसे त्योहारों
में बहन बेटियाँ शान से सड़क रास्तों में चल सकती है

हमारा देश आज डिजिल हो गया
जीओ जेसे कम्पनी फ्री सेवा का त्योहार रोज़ मना रही है

कब बहन बेटियाँ अपने त्योहार
बिना डर के आनँद से देश में मनायेंगे

हर रोज़ नीर्भया और गुड़िया बहन की यादों से
बहन बेटियाँ देश की बहुत सहमी हुई है

बहन बेटियाँ कब आजादी से
देश में निडर हो कर चलेगी

ॐ शांति राम भगत

सभी बहनों को दोस्तों को
रक्षा बंधन की शुभ कामनाये