(सुण भलेयामाणसा)
सुण भलेयामाणसा दस्सां तिज्जो क्या क्या कम्माणा चाहिदा।
सुण रुस्सेयो मन्नाणा चाहिदा, डिग्गेयो उट्ठाणा चाहिदा ।
रोंदे माणुएयो हस्साणा चाहिदा, हारेयो जित्ताणा चाहिदा ।
सुत्तेयो जगाणा चाहिदा, भुल्ले भटकेयो रस्ते पाणा चाहिदा।
सुण भलेयामाणसा दस्सां तिज्जो क्या क्या कम्माणा चाहिदा।
मरदे माणुएयो जितना होई सकै बचाणा चाहिदा ।
बुरे कम्म करने आल़ेयो थाणे जाई फसाणा चाहिदा।
लड़दे माणुआं जो छुड़ाणा चाहिदा।
प्यासे जो पाणी पिलाणा चाहिदा।
भुक्खे जो खाणा खिलाणा चाहिदा।
सुण भलेयामाणसा दस्सां तिज्जो क्या क्या कम्माणा चाहिदा।
बीमारे जो तत्काल हस्पताल पुजाणा चाहिदा।
बेल्ले बैठेयो कम्में लाणा चाहिदा ।
खेती उजाड़दे डंगरे जो नट्ठाणा चाहिदा।
नास्तिके जो आस्तिक बणाणां चाहिदा।
ठौकरे आल़े राहे तिस्स जो लाणा चाहिदा।
कुरस्ते पेयो जो रस्ते पाणा चाहिदा।
महफिला च रंग जमाणा चाहिदा ।
सुण भलेयामाणसा दस्सां तिज्जो क्या क्या कम्माणा चाहिदा।
कदी वी रंगे च भंग नीं पाणा चाहिदा।
खरे कम्में च हत्थ बंडाणा चाहिदा ।
अनपढ़े जो जरूरी पढ़ाणा चाहिदा।
रोज खरा खरा कम्म कम्माणा चाहिदा।
परिमल सारेयां जो देशभक्ति रा पाठ पढ़ाणा चाहिदा।
न्नैं अप्पणां अप्पणां फर्ज निभाणा चाहिदा।
सुण भलेयामाणसा दस्सां तिज्जो क्या क्या कम्म कम्माणा चाहिदा। ।
नंदकिशोर परिमल, गांव व डा. गुलेर
तह. देहरा, जिला. कांगड़ा (हि_प्र)
पिन. 176033, संपर्क. 9418187358
Photo: