फ़ैसला सुन लीजिये ?

गुनगुनायेगा मुक़द्दर हौसला रख लीजिये ।
ज़िंदगी के स्वाद हैं ये इनको भी चख लीजिये।।

ग़र्दिशे दौराँ से कोई बच नहीं सक्ता यहाँ ।
जो भी होगा फ़ैसला रब का यहाँ सुन लीजिये।।

गर्दे सफ़र होगा बहुत लंबा सफ़र भी है बहुत।
गर्दे मलाल जी धोइये उजले करम बुन लीजिये।।

बाग़ मुरझाये नहीं इंसानियत का ऐ अनिल।
एक मज़हब बस मुहब्बत का यहाँ चुन लीजिये।।

? सुप्रभातम् ?
? पं अनिल ?
अहमदनगर महाराष्ट्र
? 8968361211