माँ की याद में

?यादां दे झरोखे ते?

गांईं जो  घाह  पाँदी अम्मा
रौणे  सोत  लगांदी  अम्मा
बछिया पाणी प्यांदी अम्मा
दुद्धे  दूही  नै  जांदी  अम्मा
मिंजो हरदम  दुसदी  रैंहदी
राम बोलदी  उठदी  बैंह्दी।

सोठुए  बालें  चलदी अम्मा
गोडेयाँ  तेल  मल़दी अम्मा
सैरीयो  भटूरु  तल़दी अम्मा
भैणां  दैं घरैं  कह्लदी  अम्मा
मिंजो  हरदम  दुसदी रैं हदी
राम  बोलदी  उठदी  बैंह्दी।

बापुएदे  हुक्कैं पाणी भरदी
कमांदी  रैंहदी जींदी  मरदी
थकी  जाँदी बस  नी करदी  
गर्मी     होए   भौंए    सर्दी
मिंजो  हरदम  दुसदी  रैंहदी
राम  बोलदी  उठदी बैंह्दी।

छाबड़ी भरी रोटियाँ पकांदी
इक   कड़ैटी सव्जी बणांदी
चौंके    सारें   लीपण  पांदी
चुल्हीयो ताजी मिट्टी लगांदी
मिंजो  हरदम  दुसदी   रैंहदी
राम  बोलदी  उठदी  बैंह्दी।

बापू सौए तांपख्खा  झोलदी
कुसीजो कदी बुरानी बोलदी
मत्था   टेकी  हाख  खोलदी
भ्यागा   उट्ठी  छाह    छोल़दी
मिंजो  हरदम   दुसदी   रैंहदी
राम  बोलदी   उठदी  बैंह्दी।

मेरेयां लिख्याँ आखराँ मेल़दी
पट्टिया  धोई   फिरी  उकेरदी
दुआता  स्याही  पाई लेहल़दी
मेरें   सिरें   फि:   हथ  फेरदी
मिंजो   हरदम  दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी  बैंहदी।

कदि  बलेई,   खीर   बणांदी
कदि   कड़ाह  पूड़ी  खुआंदी
कदि  नाल़ियाँ  बेह्ठीं   पांदी
कदि    हंडुएं   साग   चढ़ांदी
मिंजो   हरदम   दुसदी  रैंहदी
राम   बोलदी  उठदी   बैंह्दी।

टल्लू   जोड़ी   खिंद  बणांदी
रंग   बरंगा   गलाफ   चढ़ांदी
गुदड़े    दे   सरहाणे  बणांदी
मैं  जाँ   सोई   लोरी  सुणांदी
मिंजो  हरदम   दुसदी   रैंहदी
राम  बोलदी   उठदी   बैंह्दी।

सारे ग्रहां दियां गट्ठी मणसांदी
माड़े  ग्रह   सैह  दूर  नसान्दी
गरीवां  ज  बी  दान   करांदी
पणते   जो  दछणा    दुआंदी
मिंजो  ह   दम   दुसदी  रैंहदी
राम    बोलद   उठदी   बैंह्दी

बाबा  माता  कुल्लज  मनांदी
चणे  बबरु   सुपारी    चढ़ादी
बिहाईयां लीपी टिक्का  लांदी
मिंजोते फि: कंजकां पुजान्दी
मिंजो   हर  दम  दुसदी  रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी   बैंहदी। 

नूआं   ते  अज   डरदी  अम्मा
सुकियाँ  हाखीँ   भरदी  अम्मा
दिनें    खंदोलू   .भरदी  अम्मा
ठंडियाँ   रातीं    ठरदी   अम्मा
मिंजो   हरदम   दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी    उठदी   बैंह्दी।

टोकरु   गोए दा  सुटदी अम्मा
बीड़ा   दा  घाह  पुटदी  अम्मा
धागा    धागा   टुटदी   अम्मा
अंदर   इ   अंदर  घुटदी अम्मा
मिंजो    ह  दम   दुसदी  रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी    बैंह्दी।

बागड़ु   गुडदी   मैल  रल़ान्दी
मिर्चां   बीहण  आदरा  बांह्दी
हथ     फेरी     फेरी     राह्ंदी 
रोज   दिखदी   औंदी   जांदी
मिंजो   हरदम  दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी   बैंह्दी।

धूड़ीनै   कपड़े  धोंदी   अम्मा
किह्ली   बेईनै   रोंदी    अम्मा
हौलें    हौलें    घरोंदी   अम्मा
बाजी   मौती  मरोन्दी  अम्मा
मिंजो   हरदम  दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी  उठदी   बैंहदी।

पेह्ठी  दा घाह  बडदी  अम्मा
ताऊए  ते  झूंड  कडदी अम्मा
कदि   नी पच़ाह  हटदी अम्मा
मसीबता  गाँह   डटदी  अम्मा
मिंजो   हरदम.  दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी   बैंह्दी।

नूआं  जो    समझांदी  अम्मा
खरा   बणाई  खुआंदी अम्मा
सिरें   हथ    फिरांदी    अम्मा
छातिया  कनै  लगांदी  अम्मा
मिंजो  हरदम   दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी   बैह्दी।

चौंके   लीपण    पांदी  अम्मा
गुरन   गुरन करी गांदी अम्मा
हंडुएं  दाल़   बणांदी    अम्मा
डोई    बिच   घुमांदी   अम्मा
मिंजो   हरदम  दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी  बैंहदी।

सारी   रात    खंगदी   अम्मा
पाणी रा   घुट  मंगदी   अम्मा
गल  गलांदी   संगदी    अम्मा
अणसुणी  करी  लंघदी अम्मा
मिंजो   हरदम   दुसदी  रैंहदी 
राम   बोलदी   उठदी   बैंह्दी।

कोई   बोलदा  सत्तरी बह्त्तरी
कोई   बोलदा    झूठी  मकरी
कोई  बोलदा  सचमुच  कसरी
कोई    बोलदा   बुड्ढी   टसरी
मिंजो  हरदम   दुसदी    रैंहदी
राम    बोलदी  उठदी   बैंह्दी।

टव्वरे   दी .तकदीर थी अम्मा
ईश्वर   दी   तस्बीर  थी अम्मा
बापुए   दी  तदबीर थी अम्मा
अपणे  ताँई फकीर  थी अम्मा
मिंजो   हरदम   दुसदी   रैंहदी
राम   बोलदी   उठदी   बैंह्दी।

सुरेश भारद्वाज निराश
ए.58 न्यू धौलाधार कलोनी, 
झिकली बड़ोल
पी ओ …दाड़ी
धर्मशाला जि० कांगड़ा हि प्र.
पिन  176057
9805385225
9418823654