मर मिट्गे

देश के लिये हम आगे बड़ेगे !
देश के लिये हम मर मिटेगे !
चाहे हो हिमाचल कश्मीर और पंजाब !
देश में ना होने देंगे हम किसी का दवाब !
किसान हो या नौजवान !
बनाना होगा देश को बलवान !
आओ आज हम सब मिल कर कसम खायें !
देश को उजवल और समृद्ध बनाये !
आतंकवाद का करो खात्मा !
कण -कण में बसा दो परमात्मा !
नशा मुक्त हो देश हमारा !
आज के युग का हो ये नारा !
दहेज प्रथा पर रोक लगाये !
दिल से दिल को ही मिलाये !
जनसँख्या को अब ना बढ़ाओ !
परिवार नियोजन को अपनाओ !
महँगाई फ़िर ना बढ़ पायें !
परिवार नियोजन को जब हम अपनाये !
शिक्षा को बडाना होगा !
अनपढ़ता को मिटाना होगा !
जय हिन्द का नारा हो !
भारत देश संसार से न्यारा हो !
राम भगत नेगी