तुम वीणा की झनकार करो,मम वाणी में रसधार भरो।
हम गाथा गायें भारत की,हम पर इतना उपकार करो।।
हो विमल धवल मति मेरी,नित नेह नवल संचार करो।
हे मातु भारती मेरी,अब तो मेरा उद्धार करो।।
Dr meena kaushal
Gaytripuram
Gonda. U. P