जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

अज्ज जमान्ना आया खचरा भोल़ा माह्णू मुक्का दा,
तड़ियाँ छड़ियाँ बधियाँ प्यार मुहब्बत दा खुह सुक्कादा।
अपणा आप सुणक्खा म्हेशा जिसियो खूब सजान्ने हाँ,
हुण ताँ चिट्टे टल्ले ओढी दूएयो धमकान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

ल्हीक्खाँ चीच्चड़ अणमुक ताल़े खिंद खँदोलू सींदे थे,
दूध-दधूनू काह्ड़ी-काह्ड़ी रज्जी- रज्जी पींदे थे।
मिस्सी रोट्टी मक्खण छड्डी फोक्का टोस्ट बणान्ने हाँ,
गोआॅ गूंत्तर मुस्काँ मारै कुत्ते खूब घुमान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

इक दूए दैं उठणा बौह्णा हुण नी चंगा लगदा ऐ,
छैल़ कमाई करने आल़ा माह्णू मंदा लगदा ऐ।
मोह्तवराँ दे रिस्ते खातर अपणा आप भुलान्ने हाँ,
अक्खीं मिट्टी कौड़ी काल़ी रम्म गलासैं पान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

हुण नी ढिच्चर चलदा कोई खज्जल़ आप्पी होए हाँ,
सक्लां अक्लां चीक्खी बोल्लण बाह्जी अग्ग फकोए हाँ।
कुड़ियाँ चिड़ियाँ रौणक घर दी धम्मड़धूसा पान्ने हाँ,
झूठोझूठ गलाई मितरा जम्मण ते कतरान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

भोगां सोगां रोगां पाल़ी माह्णू मुकदा जांदा ऐ,
कम्म कमाणा दुस्सै भारी छुपदा लुकदा जांदा ऐ।
लमका करदा लींग्गण भुक्खड़ आप्पू जो भरमान्ने हाँ,
सुच्चा रस्ता दुस्सै फ़ी बी मितरा बचदे जान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच वचारां बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

छंड्ड-छड़ोल्लू छड्डे भाऊ अज्ज खुआड़े खाली जी,
खेत्तर खिल्ले छड्डे मितरा बांदर लुट्टण माली जी।
अज्ज घड़ोल्लू चुक्की मूह्ण्डैं पाणी घट्ट लयान्ने हाँ,
दिक्ख कुआल़ू मुस्काँ मारै सड़का-सड़का जान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

माॅस्टर दिक्खी लुक्कण जागत थरथर कमणी लगदी थी,
सेड्डे लत्तां भन्नण जाह्लू छुट्टी मँगणी फबदी थी।
हुण ताँ डरदे माॅस्टर अक्खीं कड्ढी के दबकान्ने हाँ,
अज्ज पढ़ाई खैर सरल्ला सण्दां फ़ी बी पान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

दिक्खो-दिक्खी नेड़-पड़ेसां छैल़-सरीकोचारी जी,
छोह्रू-छोह्री हिरखाँ करियै बणिये सिस्टाचारी जी।
हुण कुस्सी ने मतलब नी ऐ घढ़ियै गल्ल बणान्ने हाँ,
तेल-तल़ाई दीया ठीकर पैसा सुट्ट नभान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

पाणी बरताणा ब्याह नभाणा गडिया दाज चढ़ाणा,
औण बराती होण परौह्णे स्योआॅ राईं चज्ज दखाणा।
खड़्ड़-खड़ोत्ते इक दो घड़ियाँ ई हुण फेरा पान्ने हाँ,
पत्तल कागद दी ऐ होई खड़्ड़-खड़ोत्ते खान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

जीण जणासां दे थे खोट्टे मार चबक्खी सैंह्दी थी,
मुक्कै ना कमसैह्ड़ा घर दा अंदर-अंदर रैंह्दी थी।
बधियाँ जीब्हाँ लोक्की पुच्छण करदे लक्ख बहान्ने हाँ,
बच्चा इक्क जमाणे खातर आॅप्रेसन करुआन्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

कम्म करा ओ कुड़ियो मुँडुओ हड्ड-हरामी माड़ी ओ,
जोर-जुआन्नी मुकदी छोड़ैं भारी ढिड्ड बमारी ओ।
लत्तां भारी सेई-बेई मिट्ठा खून बधान्ने हाँ,
पैदल चलणा छैल़ बड़ा पर चलणे ते सरमान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

मुँह-मण्डल़ दी रौणक फिक्की गुस्सा नक्क चढ़ाया ऐ,
अस्ली थोबड़ लग्गै माड़ा दाह्ड़े एठ लुघाया ऐ।
पुट्ठे-सिद्दे छेक्काँ कड्ढी बाल़ा रंग करान्ने हाँ।
चिड़ियाँ खड़ियाँ करने ताँईं तेल कदी नी पान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ।
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

हाकम चोर उचक्का होऐ खूब घरोड़ी खांदा ऐ,
उपरा माल कमाणे खातर सबना जो भरमांदा ऐ।
दिक्ख ‘नवीना’ गल्ल बुरी ऐ फ़ी बी सैंह्दे जान्ने हाँ,
बदली होर कुथी ना होऐ ए सोच्ची घबरान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

टट्टू भाड़े दा लाड़ा जी लाड़ी माड़ी होई ऐ,
घर-परुआराँ दी सांती बी दूईं हेठ दबोई ऐ।
खस्म-जणासाँ दे फ़र्ज़ां जो नित-नित भुलदे जान्ने हाँ,
पितराँ पुतराँ दे पास्से ते अपणी जान छुड़ान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

नार बगान्नी छैल़ छबीली अपणी डैण-डरांदी ऐ,
लाड़ा माड़ा लग्गै अपणा रोज़ कपत्ताँ पांदी ऐ।
प्रेम-प्यार हुण डँगर चारै इक-दूए धमकान्ने हाँ,
औंदा कोई प्रौह्णा घर नी सबनां जो टरकान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

बब्ब कमाऊ झूरा करदा टब्बर गब्बर होया जी,
कम्म करै मिमयाए बकरू शेरा बब्बर होया जी।
घर दा बड्डा बन्नैं छड्डी अपणी चाल चलान्ने हाँ,
चौधर फोक्की करियै अपणा खोट्टा टैम करान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

पुल़सा कन्नैं मेल़ बधाई धौंस पड़ेसैं मारी ऐ,
इज़्ज़त मान गुआई अपणा जीणा ए लाचारी ऐ।
मेल़ म्ल़ाप्पे प्यार-प्लोप्पे आप्पूच्चैं विसरान्ने हाँ,
तड़ियाँ छड़ियाँ पल़ियाँ भाऊ सुक्के खुण्ड कहान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

कुड़ियाँ-चिड़ियाँ मार डुआरी आह्लण खूब सजाए जी,
तित्थ-धयाराँ माप्पैं आई रीत-रुआज नभाए जी।
रीत-रुआज परीत्ताँ वाल़े दिन-दिन भुलदे जान्ने हाँ,
भैणाँ बूआँ दे रिस्ते जो थोड़ा घट्ट नभान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

सक्के अम्माँ जाये करदे जाण सरीकोचारी जी,
जै श्री राम गलांदे फ़ी बी हुंदी ऐ गर्दारी जी।
जल़्वाँ-हिरखाँ भड़की-भड़की इक दूए पत्यान्ने हाँ,
पाठाँ खूब पढ़ान्ने फ़र्ज़ां अपणे भुलदे जान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

गुल्ली-डण्डा लुक्क-ल्काह्ड़ा खेल्ली होए तगड़ थे,
गंड्ढू लूणे चारे कन्ने छाबड़ रोट्टी रगड़े थे।
बरगर पिज्जे मैग्गी खाई पेट खराब करान्ने हाँ,
खेल्लांयो सकरीन्ना उप्पर ई खेल्ली इतरान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

डँग्गर-बच्छू घाॅ-पतराह् हुण रुक्खाँ चढ़ना छड्डी ताॅ,
डाह्टू-खुट्टू पन्दीं-बिन्ना घर दे बाअर कड्ढी ताॅ।
जेब्बा हत्थाँ पाई भाऊ सड़का-सड़का जान्ने हाँ,
कम्मे दिक्खी जी घबराए पेट बधांदे जान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

ज्ञान कताबी भरया खोपर सरदा घटदी जांदी ऐ,
दीया बत्ती माड़ा लग्गै फोक्की फौह्ड़ सुहांदी ऐ।
डी०जे० उप्पर नच्च कुदैड़ा धम्मड़-धूस्सा पान्ने हाँ,
बाब्बैं रोट चढ़ाणा भुल्ली ढिड्डाँ भरदे जान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

गिरयाँ सोच-वचाराँ कन्नैं खोट्टी कर्म-कमाई जी,
छोह्रू छड्डी न्हट्ठण लग्गे बस्सै पिंड-जुआई जी।
माप्पे अज्ज प्यारे सौर्यां रज्जी खुड्डैं लान्ने हाँ,
खेच्चल़-खौद्दल़ पाई भाऊआंयो खूब लड़ान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

थिन्दे निमल़े लोक गुआच्चे खौह्रे तत्ते डड्डादे,
गल्ला परती ठोरी पट्टाँ अक्खीं मूए टड्डादे।
पैसा ई परधान लऊ दे रिस्ते सब्ब भुलान्ने हाँ,
घुण्ढे बणियै बन्नैं बैट्ठी छुरियाँ छैल़ चलान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

जीब्हाँ दा चटरोड़ापण किछ हड्ड-हराम्मी बधियो ऐ,
देसी जड़ियाँ छड्डी-बड्ढी टुम्ब-बमारी सदियो ऐ।
भुल्ल ल्सैह्ढ़ा फुल्ल कुराल़ीं भड़था गोब्भी खान्ने हाँ,
अरबी कन्द करेला खुम्बा मितरो घट्ट बणान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

धाम्माँ बिच्च रल़ाई बड़ियाँ साम्भर बी बरताया ऐ ,
मधरा-मठड़ी-खट्टा-मिट्ठा-दाल़ीं रंग जमाया ऐ।
तौर-तरीके नौंएँ दा झंडा छैल़ झुलान्ने हाँ,
पैट्ठीं बैट्ठी खाणा भुल्ला रिस्सैप्शन करुआन्ने हाँ ,
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

बन्ने बाड़ सरीक बधाई आग्गैं ठांह्दा जांदा ऐ,
चार धियाड़े जिंद नमाणी परती फ़ी समझांदा ऐ।
गल्लाँ-बात्ताँ सुणियै ओह्दी आप्पू जो पत्यान्ने हाँ,
धरतू एत्थू रैह्णा सोच्ची सच्च दबोंदे जान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

ठौड़ी-टिकड़ी छोल्ले-बबरू पूजा छैल़ करांदे थे,
कुल़्ल़-परोह्ते सद्दी सीधा गट्ठीं जो मणसांदे थे।
बर्डे केक ल्याई बत्ती मोमे दी बुझआन्ने हाँ,
कोक समोसा खाणा पीणा ताह्कैं गिफ्ट सजान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

सब किछ ई सरकार करै ए सोच नखस्मी पाल़ी ऐ,
माल पराया अंदर औऐ अपणी नित्त दयाल़ी ऐ।
अक्खैं-बक्खैं आल़-दुआल़ैं कूड़ा रज्जी पान्ने हाँ,
नरक बणाई जीण सुणक्खा करदे लक्ख बहान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

जाह्लू तिक्कर लत्ताँ चल्लण ताह्लू तिक्कर होस नहीं,
आई होस गुआई टैमे बचया ताह्लू जोस नहीं।
चलदी जङ्घाँ दुनिया भर दे भैड़े कम्म कमान्ने हाँ,
ठौकर ठोकर मारै जाह्लू ढाँईं मार रड़ान्ने हाँ।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

रब दी मर्जी दे अग्गे ना जोर कोई बी चलदा ऐ,
जिह्दे बिच्च भलाई म्हारी ओह्यो ई रब करदा ऐ।
रब दी मर्ज़ी माड़ी लग्गै अपणी चाल चलान्ने हाँ,
सुरग हलोरे छड्डी जीणा मड़या नरक बणान्ने हाँ।।
जेह्ड़े कम्म कमान्ने मितरा तेह्ड़ा बणदे जान्ने हाँ,
सोच-वचाराँ बड्डे छड्डी निक्के कम्म कमान्ने हाँ।।

नवीन शर्मा ‘नवीन’
गांव/पत्रालय-गुलेर
तहसील-देहरा गोपीपुर
जिला-काँगड़ा (हि.प्र.)
९७८०९५८७४३
ईमेल: ncsharmasharma705@gmail.com

Sent from BharatKaKhajana