~ कुछ लोगों को ~
||||||||||||||||||||||||||||||

‘कुछ लोगों को मैं,
समझ न पाया,
लाख कोशिशों
के बावजूद …..|
————
और कुछ तो,
बखूब समझ आए ;
न चाहते
हुए भी…..||

〽~~~सावन