कविता/अरुण शर्मा

Name
अरूण कुमार
Email
Arunsharma27856@gmail.com
Phone
8351927856
Poem/Write up
तुम्हारी खामोशी से सवाल होगा…..!!
तुम्हारी खामोशियो से भी एक दिन सवाल होगा
हर एक गांव मे हर एक शहर मे बवाल होगा
देखना कतारे इस कदर लगेगी तुम्हे झुकाने के लिए
कि तुम्हे ना जाने किस किस गलती का एहसास होगा
बदल दिए जाऐगे रिती रिवाज तुम्हारी अदालतो मे
तुम्हारी लाशो का पहले से ही रख रखाव होगा
हवाओ मे बधबु भी ना आएगी तुम्हारी कब्र से
तुम्हारी सदियो से रही हकूमत का हिसाब होगा
जिन्होने खोई है अपनी बेटी दरिन्दरो की हवस से
उनके दिल के खून मे न जाने कितना तेज बहाव होगा
तुम्हारे दिलासो से एक दिन दुनिया रूठ जाएगी
ओर देखना तुम्हारी हर एक साजिश का हिसाब होगा…..!!

अरूण शर्मा (डलहौजी)

One comment

  1. क्यो कश्मीर की मांग करता है…..!!

    ऐ पाकिस्तान तुझे पुरा बंगाल मिला था
    अब तु क्यो कश्मीर की मांग करता है
    बंगाल तो तुझसे सम्भाला नही गया था
    तु कश्मीर को भी नही सम्भाल सकता है
    तु हमारे दुश्मन का पिच्छलगू बनकर
    कभी यू ऐन ओ मे शिकायत करता है
    सामने आने की तेरी औकात नही
    इसलिए तु पिच्छे से ही वार करता है
    मजहब के नाम पर आतकी भारत भेजे
    हमारे वायु हौसलो से तु ही डरता है
    जब भी दिमाक खराब होता है भारत का
    तो तु ही हाथ मिलाने की बात करता है
    अपनी हर एक नई चाल चलने से पहले
    तु 47,65,71,99, के युद्धो को जानता है
    कश्मीर का राग छुटा नही है तेरे मुह से
    पर तेरा मन कश्मीर राग छोडने को करता है….!!
    Arun sharma (Dalhousie)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *